Sports

अमित पंघाल और शिव थापा एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप के फाइनल में

दुबई, 29 मई (एजेंसी)।

गत चैंपियन अमित पंघाल और शिव थापा ने एएसबीसी एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप
के फाइनल में प्रवेश कर लिया है। अमित ने शुक्रवार को पुरुषों के 52 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में कजाकिस्तान
के साकेन बिबोसिनोव को हराया। वहीं, शिव थापा ने अपना शानदार फॉर्म जारी रखते हुए 64 किग्रा वर्ग के
सेमीफाइनल में ताजिकिस्तान के शीर्ष वरीयता प्राप्त बखोदुर उस्मोनोव को 4-0 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया।
थापा, जिन्होंने पहले ही चैंपियनशिप का लगातार पांचवां पदक हासिल कर लिया है, अब फाइनल में एशियाई खेलों
के रजत पदक विजेता मंगोलिया के बातरसुख चिनजोरिग से भिड़ेंगे। विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता
बिबोसिनोव के खिलाफ रजत पदक विजेता पंघाल ने सतर्क शुरुआत की और प्रतिद्वंद्वी से दूरी बनाए रखने की
कोशिश की। वह दूसरे दौर में और अधिक आक्रामक दिखे और बिबोसिनोव पर दबाव बनाया। अंत में पंघाल ने
कजाख मुक्केबाज पर 5-0 से जीत हासिल कर फाइनल में प्रवेश किया। पंघाल सोमवार को स्वर्ण पदक मैच में
रियो ओलंपिक और विश्व चैंपियन उज्बेकिस्तान के जोइरोव शाखोबिदीन से भिड़ेंगे। इस बीच, 69 किग्रा
सेमीफाइनल में, विकास कृष्णन ने आंख के ऊपर चोट लगने के बावजूद साहसी प्रयास किया। पिछले मुकाबले में
विकास की आंख के ऊपर चोट लग गई थी और दुर्भाग्य से वह कट फिर से खुल गया। डॉक्टर ने कट की जांच की
और पहले राउंड के तीसरे मिनट में बाउट को रोक दिया। हालांकि, तब तक बनाए गए अंकों के आधार पर, विकास
उज्बेकिस्तान के बाटुरोव बोबो-उसमोन के खिलाफ हार गए थे। वहीं, वरिंदर सिंह 60 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में
ईरानी मुक्केबाज दनियाल शाहबख्श से 3-2 से हार गए। बता दें कि भारत ने इस प्रतियोगिता में कम से कम छह
रजत पदक पक्के कर लिए हैं। एशियन बॉक्सिंग चैंपियनशिप में भारतीय खिलाड़ियों ने अब तक कुल 15 पदक
सुरक्षित कर लिए हैं। 2019 में बैंकॉक में आयोजित चैंपियनशिप के पिछले संस्करण में, भारतीय टीम ने दो स्वर्ण
सहित 13 पदक जीतते हुए अभूतपूर्व सफलता हासिल की थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button