National

कक्षा दसवीं के नियमित विद्यार्थियों को मिलेगा मास प्रमोश

मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई कोर कमेटी की बैठक में राज्य के विद्यार्थियों के विशाल हित में महत्वपूर्ण निर्णय किया गया है।

इस निर्णय के अनुसार मुख्यमंत्री ने विश्वव्यापी महामारी कोरोना के मौजूदा संक्रमण को देखते हुए राज्य में विद्यार्थियों को सुरक्षित रखने के स्वास्थ्य रक्षा भाव के साथ कोरोना की इस स्थिति में राज्य के गुजरात माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा १०वीं (एसएससी) के नियमित विद्यार्थियों को इस वर्ष के लिए मास प्रमोशन देने का निर्णय किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विद्यार्थियों के इस वर्ग के वैक्सीनेशन का कार्य भी अभी शुरू नहीं होने के कारण उनके विशाल स्वास्थ्य हित में राज्य सरकार ने परीक्षा रद्द करने का निर्णय किया है।

शिक्षा मंत्री श्री भूपेन्द्रसिंह चूड़ास्मा ने कोर कमेटी की बैठक में लिए गए मुख्यमंत्री के इस निर्णय की जानकारी देते हुए कहा कि राज्य के १२७६ सरकारी, ५३२५ ग्रांट इन एड, ४३३१ सेल्फ फाइनेंस और अन्य ४५ स्कूलों सहित कुल १०,९७७ स्कूलों में कक्षा दसवीं के नियमित छात्रों को यह मास प्रमोशन दिया जाएगा।

राज्य सरकार ने गुजरात में कक्षा दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं जो १० मई से २५ मई के तक आयोजित होनी थी, उसे वर्तमान कोरोना संक्रमण की परिस्थिति में स्थगित करने का निर्णय गत १५ अप्रैल को किया था।

राज्य सरकार ने जब परीक्षा स्थगित रखने का निर्णय १५ अप्रैल को किया था, तब यह घोषणा की थी कि १५ मई को कोरोना संक्रमण के हालात का आकलन कर पुनः समीक्षा के बाद परीक्षा की नई तारीखें विद्यार्थियों को तैयारी के लिए कम से कम १५ दिन का समय देते हुए घोषित की जाएंगी।

यही नहीं, कक्षा पहली से नौंवीं और कक्षा ग्यारहवीं में अध्ययनरत विद्यार्थियों को इस वर्ष कोरोना की स्थिति के मद्देनजर मास प्रमोशन देने की घोषणा भी इससे पूर्व राज्य सरकार ने की है।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि राज्य में गत दो सप्ताह से कोरोना के मामलों में लगातार कमी और हॉस्पिटलों से स्वस्थ होकर घर वापस लौटने के मामलों में वृद्धि हो रही है। इसके बावजूद देशव्यापी संक्रमण की स्थिति को ध्यान में रखते हुए राज्य के विद्यार्थियों के भविष्य को कोरोना से सुरक्षित रखने के लिए मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी के नेतृत्व में राज्य सरकार कृत संकल्प है।

अब, मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने कोर कमेटी की बैठक में राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति की सर्वग्राही समीक्षा और विचार-विमर्श के बाद कक्षा दसवीं (एसएससी) के नियमित विद्यार्थियों को इस वर्ष के लिए मास प्रमोशन देने का निर्णय किया है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के इस विद्यार्थी हितकारी निर्णय के परिणामस्वरूप कक्षा दसवीं (एसएससी) के नियमित विद्यार्थियों को मास प्रमोशन का लाभ मिलेगा।

शिक्षा मंत्री श्री चूड़ास्मा ने कहा कि कोर कमेटी में मुख्यमंत्री ने यह भी निर्णय किया है कि कक्षा दसवीं (एसएससी) की परीक्षा में बैठने वाले रिपीटर विद्यार्थियों की परीक्षा कोरोना के मामलों में कमी आने के बाद जरूरी समीक्षा करने के बाद आयोजित की जाएगी।

उल्लेखनीय  है कि ऐसे रिपीटर विद्यार्थियों को पूर्व के वर्षों में रेगुलर यानी कि नियमित विद्यार्थी के रूप में कक्षा दसवीं की परीक्षा में अवसर दिया गया है, लेकिन वे परीक्षा सफलतापूर्वक पास नहीं कर सके।

कोर कमेटी की इस बैठक में शिक्षा मंत्री श्री भूपेन्द्रसिंह चूड़ास्मा, ऊर्जा मंत्री श्री सौरभभाई पटेल, गृह राज्य मंत्री श्री प्रदीपसिंह जाडेजा, मुख्य सचिव श्री अनिल मुकीम, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री के. कैलाशनाथन, अतिरिक्त मुख्य सचिव सर्वश्री पंकज कुमार, डॉ. राजीव कुमार गुप्ता, एम.के. दास तथा स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव डॉ. जयंती रवि सहित कई वरिष्ठ सचिव मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button