InternationalCinemaEntertainment

गांधी पर डॉक्यूमेंट्री, सिद्धार्थ मेनन, अक्षता पांडवपुरा न्यूयॉर्क भारतीय फिल्म महोत्सव में सम्मानित

न्यूयॉर्क, 14 जून (  एजेंसी)।

गांधी पर डॉक्यूमेंट्री, सिद्धार्थ मेनन, अक्षता पांडवपुरा न्यूयॉर्क भारतीय फिल्म महोत्सव में सम्मानित
महात्मा गांधी और सिखों की ‘सेवा’ भावना पर आधारित एक वृत्तचित्र तथा कोविड-19
की पाबंदियों के दौरान एक शादीशुदा महिला की मनोस्थिति को दर्शाती फिल्म 2021 न्यूयॉर्क भारतीय फिल्म
महोत्सव (एनवाईआईएफएफ) में पुरस्कृत होने वाली शीर्ष फिल्मों में शामिल रहीं। डिजिटल माध्यम से रविवार को
आयोजित समारोह में एनवाईआईएफएफ पुरस्कार दिये गये।

गांधी पर डॉक्यूमेंट्री, सिद्धार्थ मेनन, अक्षता पांडवपुरा न्यूयॉर्क भारतीय फिल्म महोत्सव में सम्मानित
महोत्सव में विजेता रही अन्य फिल्मों में अरुण कार्तिक निर्देशित ‘नसीर’ ने सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार जीता,
अक्षता पांडवपुरा को ‘व्हेयर इज पिंकी?’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार मिला, ‘जून’ के लिए सिद्धार्थ
मेनन को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार और ‘फायर इन द माउंटेंस’ के लिए अजितपाल सिंह को सर्वश्रेष्ठ निर्देशक
का पुरस्कार मिला। रमेश शर्मा निर्देशित ‘अहिंसा गांधी : द पावर ऑफ द पावरलेस’ को सर्वश्रेष्ठ वृत्तचित्र का
पुरस्कार मिला।

गांधी पर डॉक्यूमेंट्री, सिद्धार्थ मेनन, अक्षता पांडवपुरा न्यूयॉर्क भारतीय फिल्म महोत्सव में सम्मानित
दुनिया भर में 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मनायी गयी। शर्मा इस असाधारण नेता के जीवन और
उनके दर्शन से प्रेरित थे। उन्होंने भारत, दक्षिण अफ्रीका, अमेरिका और यूरोप में फिल्म की शूटिंग की। ‘अहिंसा’ में
गांधी की अहिंसक विचारधारा से प्रेरित मार्टिन लूथर किंग जूनियर, दिवंगत अमेरिकी सांसद जॉन लेविस, दक्षिण
अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला और दलाई लामा जैसे दुनिया के नेताओं का भी उल्लेख है। वृत्तचित्र के
शीर्षक गीत को अंतरराष्ट्रीय संगीतकार यू2 और ए आर रहमान ने बनाया है।

गांधी पर डॉक्यूमेंट्री, सिद्धार्थ मेनन, अक्षता पांडवपुरा न्यूयॉर्क भारतीय फिल्म महोत्सव में सम्मानित
रिपन सिंधर निर्देशित ‘सेवा’ ने सर्वश्रेष्ठ वृत्तचित्र लघु फिल्म की श्रेणी में पुरस्कार जीता है। यह फिल्म सेवा के
विचार को दर्शाती है जो सिख धर्म का अहम तत्व है। साथ ही फिल्म में 2012 ओक क्रीक गुरुद्वारे में भीषण
गोलीबारी की घटना समेत सिख समुदाय को लेकर बढ़ती नफरत से उपजती हिंसा को भी दर्शाया गया है।
जानी मानी अदाकारा स्वास्तिका मुखर्जी अभिनीत और सुदिप्तो रॉय निर्देशित ‘टशर घौर’ को सर्वश्रेष्ठ लघु कथा का
पुरस्कार मिला है। महोत्सव का अयोजन इंडो-अमेरिकन आर्ट्स काउंसिल ने किया था। चार जून से शुरू हुए
महोत्सव का समापन 13 जून को हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button