National

​चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ से मुकाबले को वायुसेना तैयार

नई दिल्ली, 17 मई (एजेंसी)।
चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ से मुकाबला करने के लिए वायुसेना और भारतीय तटरक्षक
बल भी तैयार हैं। वायुसेना ने प्रायद्वीपीय भारत में 16 परिवहन विमानों और 18 हेलीकॉप्टरों को तैयार रखा है।
भारतीय तटरक्षक बल लगातार तटीय क्षेत्रों में निगरानी रखे हुए है। वायुसेना ने अपने परिवहन विमानों, दो सी-
130जे और एक एन-32 के जरिये कोलकाता से अहमदाबाद तक एनडीआरएफ के 167 कर्मियों को 16.5 टन भार
के साथ पहुंचाया है। पुणे, कोलकाता और विजयवाड़ा से अहमदाबाद तक एनडीआरएफ कर्मियों और राहत सामग्री
पहुंचाने के लिए पांच सी-130 और तीन एएन-32 विमान तैनात किए हैं। भारतीय वायुसेना ने चक्रवात का मुकाबला
करने के लिए प्रायद्वीपीय भारत में 16 परिवहन विमानों और 18 हेलीकॉप्टरों को तैयार रखा है। एक आईएल-76
विमान ने भटिंडा से जामनगर तक 127 कर्मियों और 11 टन कार्गो को एयरलिफ्ट किया है। एक सी-130 विमान
ने भटिंडा से राजकोट तक 25 कर्मियों और 12.3 टन कार्गो को एयरलिफ्ट किया है। दो सी-130 विमानों ने
भुवनेश्वर से जामनगर के लिए 126 कर्मियों और 14 टन कार्गो को एयरलिफ्ट किया है। रविवार को भी वायु सेना
ने कोलकाता से अहमदाबाद तक 167 कर्मियों और एनडीआरएफ के 16.5 टन भार के परिवहन के लिए दो सी-
130जे और एक एएन-32 विमान तैनात किए थे। इसके अलावा पुणे, कोलकाता और विजयवाड़ा से अहमदाबाद तक
एनडीआरएफ कर्मियों और राहत सामग्री पहुंचाने के लिए पांच सी-130 और तीन एएन-32 विमान तैनात किए हैं।
वायुसेना की नजर लगातार मौसम विभाग के अलर्ट पर है। मौसम विभाग के अनुसार आज सुबह 5.30 बजे की
ताजा सेटेलाइट तस्वीरों में चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ में और तेजी दिखाई दी है। अभी यह तूफ़ान 17.5 एन और
71.9ई पर लगभग 42.0 किमी. व्यास के दायरे में दीव के दक्षिण-दक्षिण पूर्व में 360 किमी की दूरी पर केंद्रित है।
गुजरात के जूनागढ़ में मालिया के तटीय इलाकों में रहने वाले 1200 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। इन
सभी के लिए भोजन और आश्रय की व्यवस्था के साथ सभी एहतियाती उपाय किए जा रहे हैं। मुंबई के वडाला
इलाके से आज सुबह से हल्की बारिश के साथ तेज हवाएं चल रही हैं। मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड ने
चक्रवात अलर्ट के कारण मुंबई हवाई अड्डे का संचालन आज दोपहर 02 बजे तक बंद रखा है। भारतीय तटरक्षक
बल के अनुसार महाराष्ट्र और गुजरात में चक्रवात ‘तौकते’ सक्रिय है, जिसका मुकाबला करने के लिए बड़े पैमाने पर
उपाय किये गए हैं। महाराष्ट्र से 18 नावों और गुजरात से 01 नाव को छोड़कर सभी नावें या तो बंदरगाह लौट आई

हैं या पास के बंदरगाहों में शरण ली है। इन नौकाओं को भी सुरक्षित वापस लाने के प्रयास जारी हैं। चक्रवात के
केरल, कर्नाटक और गोवा पार करने के बाद निरंतर और ठोस निवारक उपायों द्वारा भारतीय तटरक्षक बल ने इन
राज्यों की सभी मछली पकड़ने वाली नौकाओं की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित की और अभी तक समुद्र में बहुमूल्य
जीवन की कोई हानि नहीं हुई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button